Aap door hain mujhse aur paas bhi

Aap door hain mujhse aur paas bhi- Friendship shayari, Hindi shayari

आप दूर हैं मुझसे और पास भी,
आपकी कमी का एहसास भी,
दोस्त लाखों हैं जहाँ में मेरे,
पर आप प्यारे भी और खास भी |

Aap door hain mujhse aur paas bhi,
Aapki kami ka ehsas bhi,
Dost lakhon hain jahan mein mere,
Par aap pyare bhi aur khas bhi.

Leave a Comment