Darte hain aag se kahi jal na jaye

Darte hain aag se kahi jal na jaye- Sad shayari, Love shayari, Hindi shayari

डरते हैं आग से कही जल ना जाये,
डरते हैं ख्वाब से कही टूट ना जाये,
पर सबसे ज्यादा डरते हैं आपसे,
कही आप हमें भूल ना जाये |

Darte hain aag se kahi jal na jaye,
Darte hain khwab se kahi toot na jaye,
Par sabse jyada darte hain aapse,
Kahi aap humein bhool na jaye.

Leave a Comment