Dosti ka rista purana nahi hota

Dosti ka rista purana nahi hota- Friendship shaari, Hindi shayari

दोस्ती का रिस्ता कभी पुराना नहीं होता,
इससे बड़ा कोई खजाना नहीं होता,
दोस्ती तो प्यार से भी पवित्र होती है,
इसमें कोई पागल कोई दीवाना नहीं होता |

Dosti ka rista purana nahi hota,
Isse bara koi khajana nahi, hota,
Dosti to pyar se bhi pavitra hoti hai,
Isme koi pagal koi deewana nahi hota.

Leave a Comment