Har koi in hothon par muskan lana nahi janta

Har koi in hothon par muskan lana nahi janta- Romantic shayari, Love shayari, Hindi shayari

हर कोई इन होठों पर मुस्कान लाना नहीं जानता,
हर कोई इस दिल को चुराना नहीं जानता,
एक आप ही हैं जो हमसे जीत गए वरना,
हर कोई हमें हसाना नहीं जानता |

Har koi in hothon par muskan lana nahi janta,
Har koi is dil ko churana nahi janta,
Ek aap hi hain jo humse jit gaye warna,
Har koi humein hasana nahi janta.

Leave a Comment