Jane kyun do labjo ko ijhar kahte hain

Jane kyun do labjo ko ijhar kahte hain- Friendship shayari, Hindi shayari

जाने क्यों दो लब्जों को इजहार कहते हैं,
किसी की झुकी निगाहों को भी इकरार कहते हैं,
सिर्फ प्यार का नाम ही प्यार नहीं होता,
दोस्तों की दोस्ती को भी प्यार कहते हैं |

Jane kyun do labjo ko ijhar kahte hain,
Kisi ki jhuki nigahon ko bhi ikrar kahte hain,
Sirf pyar ka nam hi pyar nahi hota,
Doston ki dosti ko bhi pyar kahte hain.

Leave a Comment