Jara si jindgi hai arman bahut hai

Jara si jindgi hai arman bahut hai- Sad shayari, Love shayari, Hindi shayari

जरा सी जिदगी है अरमान बहुत है,
हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है,
दिल के दर्द सुनाये तो किसको,
जो दिल के करीब हैं वो अनजान बहुत है |

Jara si jindgi hai arman bahut hai,
Humdard nahi koi insan bahut hai,
Dil ke dard sunaye to kisko,
Jo dil ke karib hain wo anjan bahut hai.

Leave a Comment