Jina chahte hain magar jindgi raas nahi aati

Jina chahte hain magar jindgi raas nahi aati- Hindi shayari, Miss you shayari

जीना चाहते हैं मगर जिंदगी रास नहीं आती,
मरना चाहते हैं मगर मौत पास नहीं आती,
उदास हैं हम इस जिंदगी से और,
आपकी याद भी तड़पाने से बाज नहीं आती |

Jina chahte hain magar jindgi raas nahi aati,
Marna chahte hain magar maut paas nahi aati,
Udas hain hum is jindgi se aur,
Aapki yaad bhi tarpane se baaj nahi aati.

 

Leave a Comment