Log roop dekhte hain hum dil dekhte hain

Log roop dekhte hain hum dil dekhte hain- Friendship shayari, Hindi shayari

लोग रूप देखते हैं हम दिल देखते हैं,
लोग सपने देखते हैं हम हक़ीक़त देखते हैं,
लोगों में और हम में कितना फर्क है,
लोग दुनिया में दोस्त और हम दोस्त में दुनिया देखते हैं |

Log roop dekhte hain hum dil dekhte hain,
LOg sapne dekhte hain hum haqiqat dekhte hain,
Logo mein aur hum mein kitna fark hai,
Log duniya mein dost aur hum dost mein duniya dekhte hain.

Leave a Comment