Maana ki aaj door ho aap humse

 Maana ki aaj door ho aap humse- I miss you shayari

माना की आज दूर हो आप हमसे,
पर दूरियों से कभी दिल टूटा नहीं करते,
विस्वास की मिटटी में उगते हैं जो पौधे,
वो वक़्त की आँधियों से टूटा नहीं करते |

Maana ki aaj door ho aap humse,
par dooriyon se kabhi dil toota nahi karte,
visvas ki mitti mein ugte hain jo paudhe,
wo waqt ki aandhiyon se toota nai karte.

Leave a Comment